2 से ज्यादा बच्चे वाले नहीं लड़ सकेंगे प्रधानी का चुनाव

0
468

लखनऊ: यूपी में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) को लेकर योगी सरकार जल्द ही बड़ा फैसला ले सकती है। सूत्रों के अनुसार खबर है कि ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत के चनावों को लेकर प्रेदश सरकार बड़ा फेरबदल करने की तैयारी में जुटी हुई है।

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि जनसंख्या नियंत्रण (Population Control) को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार दो से अधिक बच्चों वाले उम्मीदवारों के पंचायत चुनाव लड़ने पर रोक लगा सकती है। इसके अलावा सरकार उम्मीदवारों की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता भी तय करने की तैयारी में है। यानी अनपढ़ और कम पढ़े लिखे लोग अब चुनाव नही लड़ पाएंगे। कैबिनेट के माध्यम से इस प्रस्ताव को जल्द ही मंजूरी दी जा सकती है।

Advertising

शैक्षणिक योग्यता भी होगी तय

नए नियम में उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता को लेकर भी दिशा निर्देश तय किए जा रहे है। बताया जा रहा है ग्राम पंचायत चुनाव में महिला और आरक्षित वर्ग के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 8वीं पास होगी, जबकि 12वीं पास उम्मीदवार ही जिला पंचायत सदस्य का चुना लड़ सकेंगे। जिला पंचायत के लिए महिला, आरक्षित वर्ग और क्षेत्र पंचायत के लिए न्यूनतम 10वीं पास होने पर सरकार में सहमति भी बन चुकी है।

Advertising

कि यूपी के पंचायती राज्य मंत्री खुद इसके पक्षधर हैं। इसके अलावा केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान समेत अन्य नेता भी इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख चुके हैं। सूत्रों की मानें तो उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता को लेकर भी दिशा निर्देश तय किए जा रहे हैं। हालांकि इस मामले में आखिरी फैसला मुख्यमंत्री को ही लेना है।

अप्रैल 2021 में हो सकते है चुनाव

बता दे कि अप्रैल 2021 में प्रस्तावित त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों की तैयारियां की जा रही है। लेकिन इससे पहले ही सराकर नया कानून लागू करने की तैयारी कर रही है। इससे पहले कोरोना महामारी के चलते यूपी में तय समय पर पंचायत चुनाव की तैयारियां पूरी नही हुई हैं। जिसके चलते चुनाव की तिथि आगे बढ़ा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here